Hindi kids stories | दयालु तोता | jungal ki kahani

Hindi kids stories | दयालु तोता | jungal ki kahani



Hindi kids stories | दयालु तोता | jungal ki kahani

 एक आम का पेड़ था उस पेड़ पर खूब सारे पंछी रहते थे ।एक बार उस पेड़ पर रोग लग गया उसके पत्ते सूख ने 
लगे टहनियां सूख ने लगी। उस पेड़ पर कव्व्ये का घोसला था कौवा बोला अब में यहां नहीं रहूँगा बाकी भी बहुत से 
पेड़ है में वहीं पे रहूँगा में दूसरा पेड़ देखूँगा और वहीं पर घोसला बनाऊंगा कोव्वा उस पेड़ को छोड़ कर चला गया। 
उस पेड़ पर चिड़िया का घोसला था चिड़िया भी उस पेड़ को छोड़ कर चली गई उस पेड़ पर झील रहती थी वह भी 
पेड़ छोड़ कर चली गई। कबूतर , कटफोड़वा, सात भाई सभी पंछी उस पेड़ को छोड़ कर चले गए। उस पेड़ पर एक 
तोता रहता था उसने कहा इस पेड़ पर मेरा जन्म हुआ है में इस पेड़ पर खेला हू यहीं मेरी परवरिश हुई इसी पेड़ ने 
मुझे संभाला है में यह पेड़ छोड़ कर नहीं जाऊंगा


Hindi kids stories | दयालु तोता | jungal ki kahani

पेड़ ने कहा अरे तोते सब पंछी चले गए तुम भी जाव अब मेरे पास पत्ते नहीं रहे फूल भी नहीं रहे अब मेरे पास 
फल भी नहीं रहे अब में मरूंगा सुख जाऊंगा। तोता बोला नहीं नहीं में तुम्हें मरने नहीं दूंगा में तुम्हें सूखने नहीं दूंगा
 पेड़ की टहनी में एक बड़ा सा छिद्र था तोते ने उसे कुरेदा उसमें कीड़े मकोड़े थे तोते ने उसे मार दिया। अब आम 
के पेड़ को अच्छा लगने लगा तोते ने ओषधी वनस्पति के पत्ते लाए उन्हें पेड़ के छिद्र में भर दिए


Hindi kids stories | दयालु तोता | jungal ki kahani

तोते ने पेड़ की 
जड़ों में नई मिट्टी डाली बारिश आई उसमे आम का पेड़ साफ सुधरा हो गया उसका रोग नष्ट हो गया ।अब उसपर 
नई टहनियां आईं अब गर्मी का मौसम आया। आम के पेड़ पर नए ताज़ा पत्ते डोलने लगे ।अब थोड़े दिन बाद 
उसमे कच्चे आम लगने लगे पीले केसरी आम पकने लगे
Hindi kids stories | दयालु तोता | jungal ki kahani

पेड़ बोला अरे तोते ये लो मीठे मीठे फल सुख के साथी 
सभी होते है पर तुमने दुख में साथ दिया अच्छे दिनों में सभी पास आते हैं बुरे दिनों में सभी दूर जाते है पर तुमने
मेरी सेवा की मेरा रोग नष्ट किया तुमने मुझपंर उपकार किया है तोता बोला मैंने मेरा काम किया मैंने कोई 
अपेक्षा नहीं की थी ।हम पहले पाच फल भगवान को अर्पित करेंगे तोते ने पहले पाच फल भगवान को चढ़ाएं

Hindi kids stories | दयालु तोता | jungal ki kahani

भगवान ने आशीर्वाद दिया ,तुम्हारी दोस्ती हमेशा के लिए रहेगी हमेशा एक दूसरे को सुख दो
 

ये भी पढ़िए हिंदी कहानियां : सैम और सीनबा की दोस्ती । hindi jungal ki kahaniya

Post a Comment

0 Comments