एसिडिटी होने पर घरेलू उपचार करें

  एसिडिटी होने पर घरेलू उपचार करें

एसिडिटी की स्थिति में घरेलू उपचार से कुछ समय में राहत मिल सकती है। जानें उपाय ...


एसिडिटी होने पर घरेलू उपचार करें


अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें


कई लोग एसिडिटी से पीड़ित होते हैं। सिरदर्द, गर्दन में दर्द, नाराज़गी, उल्टी, माइग्रेन, मतली नींद की कमी, जागना, भुखमरी, खराब जीवनशैली, अधिक भोजन और लगातार नींद का पैटर्न सभी समस्याएं पैदा कर सकती हैं। एसिडिटी की परेशानी को कम करने के लिए कई लोग गोलियां लेते हैं। लेकिन इस तरह की गोलियां आपको कुछ समय के लिए बेहतर महसूस कराती हैं, लेकिन फिर यह फिर से दर्द करने लगती है। लगातार गोलियां लेने से शरीर पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। लेकिन एसिडिटी के घरेलू उपचार से भी कुछ राहत मिल सकती है।


Health tips : इन चार चीजों के साथ खाएं गुड़ और रहें फिट!


ठंडा दूध पीने से उन लोगों में पेट और सीने में जलन कम हो जाती है जो लगातार एसिडिटी से पीड़ित हैं।


अदरक का एक टुकड़ा खाने के बाद गर्म पानी पीना फायदेमंद है।


केला एसिडिटी के लिए एक बहुत ही प्राकृतिक उपचार है। नियमित रूप से केला खाने से एसिडिटी से राहत मिलती है।


एसिडिटी को कम करने के लिए बड़ी शोप फायदेमंद है। भोजन के बाद Buddishop का सेवन करने से एसिडिटी नहीं होती है। बड़ी शोप, को चबाकर या चाय बनाकर भी पिया जा सकता है।


आंवला विटामिन सी से भरपूर होता है। आंवला पेट दर्द, गैस, एसिडिटी से राहत दिलाता है। आंवला पित्त को कम करता है और बालों और त्वचा के स्वास्थ्य को बनाए रखता है।


टमाटर में कैल्शियम, फॉस्फोरस और विटामिन सी होता है। जो शरीर में बैक्टीरिया को बाहर निकालता है। हालांकि टमाटर खट्टे होते हैं, लेकिन वे शरीर में लवण की मात्रा बढ़ाते हैं। टमाटर के नियमित सेवन से एसिडिटी की समस्या कम हो जाती है।


सही निर्णय कैसे ले



गुड़ में मैग्नीशियम होता है। मैग्नीशियम आंतों को मजबूत बनाने का काम करता है। इससे पाचन में आसानी होती है। रोजाना भोजन के बाद गुड़ खाने से पित्त और एसिडिटी कम होती है।


इलायची खाने से एसिडिटी की समस्या दूर होती है। एक गिलास पानी में 2 इलायची उबालें और ठंडा पानी पिएं। इससे एसिडिटी की समस्या दूर होती है।


तुलसी के पत्ते पित्त और अम्लता के लिए भी अच्छे हैं। यदि आप पित्त और अम्लता से पीड़ित हैं, तो तुलसी के कुछ पत्तों को काटने या पत्तियों को पानी में उबालकर पीने के लिए भी फायदेमंद है। तुलसी के पत्तों के नियमित सेवन से पित्त स्थायी रूप से ठीक हो जाता है।


ये भी पढ़िए : HEALTH TIPS : पेट में दर्द और चमक निकले तो ये घरेलू उपाय अवश्य करे !


एसिडिटी होने पर घरेलू उपचार करें



Post a Comment

0 Comments